Home Suvichar in Hindi

प्रगति के अंकुर उस घर में ही फुंटते हैं


प्रगति के अंकुर उस घर में ही फुंटते हैं
प्रगति के अंकुर उस घर में ही फुंटते हैं
जिस घर की दीवारें संकल्प से मजबूत की गई हो



More Suvichar in Hindi

अज्ञानी होना गलत नहीं है अज्ञानी बने रहना गलत है
अज्ञानी होना गलत नहीं है
अज्ञानी बने रहना गलत है



प्रगति के अंकुर उस घर में ही फुंटते हैं
प्रगति के अंकुर उस घर में ही फुंटते हैं
जिस घर की दीवारें संकल्प से मजबूत की गई हो



तुम पानी जैसे बनो जो अपना रास्ता खुद बनाता है
तुम पानी जैसे बनो जो
अपना रास्ता खुद बनाता है
पत्थर जैसे ना बनो
जो दूसरों का भी रास्ता रोक लेता है



मृत्यु दुखों का अंत नहीं है
मृत्यु दुखों का अंत नहीं है
दुखों का अन्याय और ध्यान से होता है



हजारों दीयों को एक ही दिए से बिना
हजारों दीयों को एक ही दिए से बिना
उसका प्रकाश कम किए जलाया जा सकता है
इसी तरहखुशी बांटने से खुशी कभी कम नहीं होती



कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिए
कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिए
या तो लक्ष्य हासिल होगा या अनुभव



अगर आपको अपने लक्ष्य के अलावा
अगर आपको अपने लक्ष्य के अलावा
जीवन में कुछ भी दिखाई नहीं देता
तो आप अपने लक्ष्य को
आसानी से प्राप्त कर सकोगे



मेरी तकदीर को बदल देंगे मेरे बुलंद इरादे
मेरी तकदीर को बदल देंगे मेरे बुलंद इरादे
मेरी किस्मत नहीं मोहताज मेरे हाँथों कि लकीरों कि



आज के परिणाम अतीत के कर्मों से तय होते हैं
आज के परिणाम अतीत के कर्मों से तय होते हैं
अपने भविष्य को बदल पाने के लिए अपने फैसलों को बदलें



कोई भी पीछे जाकर नई शुरुआत नहीं कर सकता
कोई भी पीछे जाकर नई शुरुआत नहीं कर सकता
पर हम सभी नई शुरुआत करके बेहतर अंत कर सकते हैं