Home Katu Satya in Hindi

पैसे है तो रिश्ते बनते हैं आजकल


पैसे है तो रिश्ते बनते हैं आजकल
पैसे है तो रिश्ते बनते हैं आजकल
मकान कच्चा हो तो बेटी के रिश्ते तक नहीं आते



More Katu Satya in Hindi

अरब खरब धन जोड़िए करिए लाख फरेब
अरब खरब धन जोड़िए करिए लाख फरेब
इसे रखोगे तुम कहाँ नही कफन मै जेब



लोग चाहते हैं कि आप बेहतर करे
लोग चाहते हैं कि आप बेहतर करे
लेकिन ये भी सत्य है कि वो कभी नहीं चाहते
कि आप उनसे बेहतर करें



कौन कहता है कि इंसान रंग नहीं बदलता है
कौन कहता है कि इंसान रंग नहीं बदलता है
किसी के मुंह पर एक सच बोल कर तो देखिये
एक नया ही रंग सामने आएगा



पैसे है तो रिश्ते बनते हैं आजकल
पैसे है तो रिश्ते बनते हैं आजकल
मकान कच्चा हो तो बेटी के रिश्ते तक नहीं आते



कमियां तो सब में होती है साहब
कमियां तो सब में होती है साहब
बस नजर सिर्फ दूसरों में आती है



संसार में केवल मनुष्य ही एकमात्र ऐसा प्राणी है
संसार में केवल मनुष्य ही एकमात्र ऐसा प्राणी है
जिसका जहर उसके दांतों में नही,बातों में है



जरूरी नहीं कि हमेशा बुरे कर्मों की वजह से ही दर्द
जरूरी नहीं कि हमेशा बुरे कर्मों
की वजह से ही दर्द सहने को मिले
कई बार हद से ज्यादा अच्छे होने
की भी कीमत चुकानी पड़ती है