Home » Shayari in Hindi » Khamoshi Shayari in Hindi

Khamoshi Shayari in Hindi

चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्तां सुनकर
चलो अब जाने भी दो
क्या करोगे दास्तां सुनकर
ख़ामोशी तुम समझोगे नही
और बयां हमसे होगा नही